कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया [फाइल फोटो]
1 min read

नई दिल्ली/ग्वालियर। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्विटर पर अपना बायो बदल दिया है। अब उनका बायो लोक सेवक और क्रिकेट प्रेमी हो गया है। इससे पहले सिंधिया के ट्विटर प्रोफाइल में पूर्व केंद्रीय मंत्री और पूर्व सांसद लिखा हुआ था। अब ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्विटर प्रोफाइल बदलने से कई सवाल खड़े हो रहे हैं कि उन्होंने ऐसा क्यों किया? ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्विटर प्रोफाइल में कहीं भी कांग्रेस पार्टी का जिक्र नहीं है। बायो में लोक सेवक और क्रिकेट प्रेमी लिखा इससे पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री, पूर्व सांसद लिखा था।

यह भी पढ़ें :  महाराष्ट्र पर सस्पेंस बरकरार, सुप्रीम कोर्ट कल सुनाएगा फैसला

बताते चलें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के हाल के दिनों में कई ऐसे बयान आए थे जिससे ये लग रहा था कि उनके और कांग्रेस पार्टी के बीच सबकुछ ठीक नहीं है. सिंधिया ने कर्जमाफी, बाढ़ राहत राशि के लिए सर्वे और बिजली कटौती के मामले में खुद की पार्टी वाली कमलनाथ सरकार को कटघरे में खड़ा किया था जिसकी वजह से बीजेपी को कमलनाथ सरकार पर हमला करने के कई मौके मिले.

यह भी पढ़ें :  अब ड्रोन मच्छर तलाशेगा और मारेगा भी

ट्विटर पर बायो बदलने के सवाल पर सिंधिया ने कहा, मुझे नहीं पता इसे इतना क्यों तूल दिया जा रहा है. मैंने एक महीने पहले ही इसे बदल दिया था क्योंकि लोग बोल रहे थे कि यह काफी लंबा है। मध्य प्रदेश में कुछ विधायकों के कथित तौर पर गायब होने के सवाल पर सिंधिया ने कहा, सब बेकार की बात है। जो गायब है उसका नाम बताएं, मैं उससे आपकी बात कराउंगा।

यह भी पढ़ें :  महाराष्ट्र के जनादेश की जीत हुई: प्रकाश जावड़ेकर

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक महीने पहले मैंने ट्विटर पर अपने बायो में बदलाव किया था और अब इसे और छोटा किया है। इसके अलावा सिंधिया ने कश्मीर में धारा 370 हटाने को लेकर केंद्र सरकार के कदम का समर्थन करते हुए भी ट्वीट किया था जिसपर बड़ा राजनीतिक विवाद खड़ा हो गया था। आपको बता दें कि सिंधिया समर्थक मंत्री और विधायक उन्हें मध्य प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने की मांग शुरू से कर रहे हैं। प्रदेश में कांग्रेस की विधानसभा चुनाव में हुई जीत के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया को मुख्यमंत्री बनाने की मांग के साथ उनके समर्थकों ने भोपाल से लेकर दिल्ली तक प्रदर्शन किया था।

अपनी राय हमें contact@hindsavera.com के जरिये भेजें। फेसबुकट्विटर और यूट्यूब पर हमसे जुड़ें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here