संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित करते एनसीपी प्रमुख शरद पवार [फोटो शरद पवार ट्विट]
1 min read

मुंबई। एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने महाराष्ट्र में ताजा राजनीतिक घटनाक्रम से खुद को अलग करते हुए कहा है कि भारतीय जनता पार्टी के साथ सरकार बनाने का उनका नहीं बल्कि पार्टी नेता अजीत पवार का फैसला है और उनके साथ जाने वाले विधायकों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

यह भी पढ़ें :  महाराष्ट्र में भारी उलटफेर के बीच फडणवीस सरकार

एनसीपी प्रमुख ने शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ शनिवार को यहां संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कांग्रेस, शिवसेना तथा राकांपा ने एक साथ बैठकर महाराष्ट्र में सरकार बनाने का निर्णय लिया था लेकिन जो घटनाक्रम हुआ है उसमें पूरी तरह से अजीत पवार का हाथ है। उन्होंने चेतावनी दी कि पार्टी के जो विधायक अजीत पवार के साथ जाएंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा,“ मेरे साथ पहले भी ऐसा होता रहा है,मुझे चिंता नहीं है। मेरे पास नम्बर हैं ,स्थायी सरकार हम ही बनायेंगे।”

यह भी पढ़ें :महाराष्ट्र में ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ हुई: उद्धव ठाकरे

पवार ने कहा कि तीनों दलों के विधायाकों के साथ ही कुछ निर्दलीय के सहयोग से शिव सेना के नेतृत्व में गठबंधन सरकार बन रही थी और उसमें 169 से 170 तक विधायकों की संख्या हो रही थी। तीनों दलों ने शिव सेना के नेतृत्व में सरकार बनाने का निर्णय लिया था। फड़नवीस के पास बहुमत नहीं है और वह सदन में बहुमत साबित नहीं कर पाएंगे।

यह भी पढ़ें :  महाराष्ट्र में शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी में सरकार पर सहमति, ठाकरे होंगे मुख्यमंत्री

उन्होंने कहा “यह निर्णय अजीत का है। मुझे विश्वास है कि राकांपा को कोई भी विधायक अजीत के साथ नहीं जाएगा। यदि कोई विधायक उनके साथ जाने की सोच रहे हैं ,उन्हें दल विरोधी कानून की जानकारी होनी चाहिए। जो एनसीपी से बाहर जाने का निर्णय लेंगे उनकों महाराष्ट्र के लोग सबक सिखाएंगे।”

यह भी पढ़ें :  एसपीजी सुरक्षा अब सिर्फ प्रधानमंत्री के लिये

शरद पवार ने कहा कि जो लोग भाजपा के साथ जाएंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस घटनाक्रम के बाद कुछ लोगों ने उनसे संपर्क किया लेकिन तब तक उन्हें इस बात का अंदाज ही नहीं था।

अपनी राय हमें contact@hindsavera.com के जरिये भेजें। फेसबुकट्विटर और यूट्यूब पर हमसे जुड़ें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here