2 min read

कुछ दिन पूर्व रात को मुहल्ले में टहलते हुवे एक अंधेरी गली में बारह तेरह साल के बच्चे सिगरेट पीते दिखे। हाथ में सब्जी का झोला टाइप से था। अच्छे घर के दिख रहे थे। समझ में आ गया घर से मम्मी का सामान लेने निकले हैं इधर ये गुल खिला रहे हैं। दो तीन बार पहले भी देख कर इग्नोर किया था।

यह भी पढ़ें :  वशिष्ठ नारायण सिंह ने दी थी आइंस्टीन के सिद्धांत को चुनौती

मैंने अति सभ्यता से उन्हें समझाया कि बेटा सिगरेट पीनी बुरी बात. मनुष्य के स्पंज समान फेफड़े हवा सोकने के लिए बने हैं। वैसे भी इस आयु में यह सब करना उचित नहीं. वह हत्थे से ही उखड़ गया। चल अपना काम देख टाइप। अपने बाप के पैसे की पी रहे हैं।

यह भी पढ़ें :  नेहरू जब गांधी के संपर्क में आए तब तो सूत कातने लगे

मुझे क्रोध कम आता है, पर जब आता है तो ऐसी की तैसी. फिर क्या। उठाई एक शंटी, और दे दनादन दे दनादन। मानवाधिकार वादी होते तो मेरा विडीओ जबर वाइरल होता। कान पकड़वा का उठक बैठक करवाई कि जीवन में कभी सिगरेट हाथ ना लगाएंगे। उसके बाद से वह लड़के दिखे भी नहीं। पता नहीं सुधरे या नहीं पर इतना जरूर सुधर गए कि बाप के पैसे से खुल्ले आम सिगरेट पीते टहलते दिखाई नहीं देते। कई बार बिना भय प्रीति नहीं होती।

यह भी पढ़ें :  पहली बार अग्नि-2 मिसाइल का रात में सफल परीक्षण

दिल्ली मेट्रो का एक विडीओ वाइरल हुआ है जिसमें खुल्ले आम समूचिंग में लगे जोड़े की एक देशी आंटी ने जबर्दस्त खिंचाई की। लड़की का तर्क था वह अडल्ट है, सही भी है अडल्ट हैं किसी के साथ भी घूमने को स्वतंत्र हैं, मोरल पुलिसिंग गलत है। पर साथ ही जो अडल्ट क्रिया कर रहे हैं सार्वजनिक वहां दर्शक अडल्ट नहीं- दुधमुंहे बच्चे से लेकर टीन एजर तक चलते हैं।

यह भी पढ़ें :  21 शहरों की शुद्धता रैंकिंग में मुंबई का पानी है सबसे शुद्ध तो दिल्ली का सबसे खराब

सिनेमा जाइए, रेस्टोरेंट जाइए, ज्यादा है ओयो बुक करिए वह तो विज्ञापन भी देते हैं। पर यह क्या कि मेट्रो हो, सड़क हो कहीं भी हो प्रक्रिया चालू है……

उन आंटी जैसी सारी आंटियां हो जाएं तो बिगड़ी हुई पीढ़ी सुधर जाए..

नितिन त्रिपाठी की फेसबुक वाॅल से…….

अपनी राय हमें contact@hindsavera.com के जरिये भेजें।फेसबुकट्विटर और यूट्यूब पर हमसे जुड़ें।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं। इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति हिन्दसवेरा डॉट कॉम उत्तरदायी नहीं है। इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं। इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार हिन्दसवेरा डॉट कॉम के नहीं हैं, तथा हिन्दसवेरा डॉट कॉम उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here