देश के जांबाजों पर प्राथमिकी दर्ज करने से गुस्साई यूकेडी ने रोकी लिंक एक्सप्रेस

Published by: 0

IMG-20180212-WA0163

उत्तराखंड क्रांति दल महानगर इकाई के नेतृत्व में जम्मू कश्मीर में 10 गढ़वाल रेजीमेंट के ऊपर दर्ज की गई झूठी FIR दर्ज करने के विरोध में प्रदर्शन करते हुए देहरादून रेलवे स्टेशन में लिंक एक्सप्रेस को रोक कर केंद्र सरकार व जम्मू कश्मीर सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। आज पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत उत्तराखंड क्रांति दल महानगर इकाई द्वारा रेल रोक कर प्रदर्शन करने का कार्यक्रम के तहत प्रातः 11:00 बजे यूकेडी कार्यकर्ता केंद्रीय कार्यालय में एकत्रित हुए। कार्यक्रम में डोईवाला तथा ऋषिकेश के कार्यकर्ताओं ने भी शिरकत की।भारी बरसात के चलते अपेक्षाकृत कम कार्यकर्ताओं के पहुंचने के कारण यूकेडी नेताओं ने अपनी रणनीति में बदलाव करते हुए छापामार गोरिल्ला रणनीति का इस्तेमाल किया। इसके तहत बीस बीस कार्यकर्ताओं की टोली बनाते हुए लगभग 80 कार्यकर्ता दोपहर 1:00 बजे मुख्य द्वार के बजाय अलग-अलग वैकल्पिक रास्तों से रेलवे स्टेशन के भीतर दाखिल हुए। उसके बाद ऋषिकेश के युवा नगर अध्यक्ष मोहित डोभाल के नेतृत्व में 10 कार्यकर्ताओं की टोली मुख्य द्वार से रेलवे स्टेशन के भीतर दाखिल हुई ।जिन्हें पुलिस ने तत्काल हिरासत में ले लिया। पुलिस इस गफलत में रही कि सभी यूकेडी कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया गया है। लेकिन लगभग 1:15 बजे रेल का इंजन चालू होते ही अलग-अलग टोलियों से रेलवे स्टेशन के भीतर पहुंचे कार्यकर्ताओं ने रेलवे ट्रैक जाम कर दिया। जब तक पुलिस प्रदर्शनकारियों को काबू करती तब तक दर्जनों महिलाएं तथा पुरुष रेल के इंजन के ऊपर चढ़ गए और केंद्र सरकार तथा जम्मू कश्मीर सरकार के विरोध में जोरदार नारेबाजी करते हुए सेनाओं के ऊपर दर्ज झूठे मुकदमों को तत्काल वापस करने की मांग करने लगे। महानगर अध्यक्ष संजय क्षेत्री ने कहा कि 10 गढ़वाल राइफल पर दर्ज किए गए झूठे मुकदमों द्वारा केंद्र सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर की सत्ता पर बने रहने के उद्देश्य से अलगाववादी तुष्टिकरण की राजनीति की जा रही है इससे उत्तराखंड मूल्य सैनिकों की छवि पर भी प्रतिकूल असर पड़ा है सरकार जहां पर पत्थरबाज अलगाववादियों के ऊपर से 10000 मुकदमे वापस ले चुकी है।वही रक्षा मंत्री के साथ जम्मू कश्मीर सरकार द्वारा विचार विमर्श के बाद 10 गढ़वाल राइफल के जवानों के ऊपर हत्या का मुकदमा दर्ज करने के उद्देश्य से झूठी FIR दर्ज की गई है । जिससे सेना का मनोबल टूटने का भय है ।इस बीच यूकेडी कार्यकर्ताओं की पुलिस के साथ तीखी नोकझोंक चलती रही। पुलिस बामुश्किल 1:25 बजे लंबी जद्दोजहद के बाद कार्यकर्ताओं को रेल के इंजन से उतारने में सफल हो पाई। लेकिन तब तक कार्यकर्ता 5 मिनट से अधिक समय तक लिंक एक्सप्रेस को रोक कर अपना विरोध दर्ज कराने में सफल रहे।प्रदर्शन करने वालों में महानगर अध्यक्ष संजय क्षेत्री के साथ केंद्रीय महामंत्री जय प्रकाश उपाध्याय, वरिष्ठ नेता लताफत हुसैन ,मोहित डोभाल, सोहन भट्ट ,रोशन बलूनी ,सुरेंद्र पोखरियाल ,मुकेश कोठारी, गौरव उनियाल, ललित कुमार, विजय क्षेत्री, धीरेंद्र बिष्ट ,इमरान अहमद, केंद्र पाल सिंह तोप वाल ,सुरेंद्र बुटोला, चंद्रप्रकाश जोशी, प्रमिला रावत ,महिला महानगर अध्यक्ष सारिका थापा ,अनीता शास्त्री, रामेश्वरी चौहान ,राजेश्वरी रावत, बिना भंडारी, गुड्डी चौधरी ,पूजा नेगी, रूबी खान समेत लगभग 80 कार्यकर्ता शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *