राजधानी हेतु गैरसैंण ही उपयुक्त-उक्रांद

Published by: 0

IMG-20170809-WA0092

उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय महामंत्री श्री जय प्रकाश उपाध्याय ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तराखंड क्रांति दल ने राज्य आंदोलन के समय राज्य की राजधानी चंदर नगर गैरसैंण में बनाने के लिए संकल्प लिया था। राज्य की राजधानी गैरसैंण में होनी अति आवश्यक है। राज्य की सत्तासीन रही राष्ट्रीय पार्टियों ने इस महत्वपूर्ण और आवश्यक एवं उत्तराखंड की पहचान बनाने वाले बिंदु को केवल राजनीति का बिंदु बना कर रख दिया है। उत्तराखंड क्रांति दल राजधानी गैरसैंण में स्थापित करने के लिए प्रतिबद्ध है और भाजपा की वर्तमान सरकार को चेतावनी देना चाहता है कि वह इस संवेदनशील बिंदु पर अनर्गल बयान बाजी ना करें और तत्काल राजधानी को गैरसैंण में स्थापित करें।यदि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने ऐसा नहीं किया तो उत्तराखंड क्रांति दल जन आंदोलन के माध्यम से सरकार को करारा जवाब देने के लिए तैयार है।वर्तमान सरकार इस संघर्ष के लिए भविष्य में तैयार रहें। उत्तराखंड क्रांति दल ने अपने इस वर्षों पुरानी मांग को जनभावनाओं के अनुरूप पूरा करने के लिए जनता के सहयोग से आंदोलन करने का निर्णय लिया है। इसी परिपेक्ष में उत्तराखंड क्रांति दल 18/12/ 2017 दिन सोमवार को प्रत्येक जिला मुख्यालयों पर धरना आयोजित करने जा रहा है। इसके उपरांत इस संवेदनशील बिंदु पर आंदोलन की रणनीति बनाने के लिए 19- 20 दिसंबर 2017 को बीजापुर गेस्ट हाउस में उक्रांद के वरिष्ठ नेता माननीय काशी सिंह ऐरी, माननीय त्रिवेंद्र सिंह पवार, माननीय बीड़ी रतूड़ी, डॉ नारायण सिंह जंतवाल, माननीय पुष्पेश त्रिपाठी, डॉक्टर शक्तिशैल कपरवाण और दल के उपाध्यक्ष एवं महामंत्री और प्रवक्ता दो दिवसीय मंथन करेंगे। राजधानी जैसे महत्वपूर्ण मसले पर आंदोलन के लिए भविष्य की रणनीति तैयार की जाएगी।कार्यसमिति की बैठक में राजधानी गैरसैंण पर निर्णायक आंदोलन की रूपरेखा माननीय केंद्रीय अध्यक्ष श्री दिवाकर भट्ट के नेतृत्व में तैयार की जानी है। उत्तराखंड क्रांति दल का मानना है कि राष्ट्रीय पार्टियों के नेताओं ने केवल राजधानी गैरसैंण बनाने को लेकर उत्तराखंड की भोली-भाली जनता को गुमराह किया है। जिस प्रकार से राज्य के आंदोलन में इन दोनों दलों ने जनता को भ्रमित करने का कार्य किया था उसी प्रकार से यह लोग आज भी जनता को गुमराह करने का कार्य कर रहे हैं।उत्तराखंड क्रांति दल अब इनकी दोहरी चाल को जनता के बीच में ले जाकर जन आंदोलन खड़ा करेगा। ऐसे उन तमाम साथियों से अनुरोध एवं निवेदन किया जाएगा जो गैरसैंण को राजधानी बनाने के लिए अंतिम क्षण तक संघर्ष करने के लिए तैयार है। राज्य आंदोलनकारियों की बिखरी हुई शक्ति को एकत्रित कर कर बड़ा जन आंदोलन खड़ा किया जाएगा। उत्तराखंड क्रांति दल राज्य आंदोलन के दौरान आंदोलन करने वाले अंतिम व्यक्ति को सम्मान देना चाहता है। सरकार को चाहिए कि वह राज्य में सभी आंदोलनकारियों का चिन्हीकरण करें और पुराने मानकों को ही लागू रखें।अखबारों की कटिंग और अन्य मानकों को भी चिन्हीकरण में शामिल कर आंदोलनकारियों को चिन्हित करें। पत्रकार वार्ता में जय प्रकाश उपाध्याय के साथ महानगर अध्यक्ष संजय क्षेत्री, केंद्रीय सचिव धर्मेंद्र कठैत एवं युवा नेता गौरव उनियाल शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *