नगर निगम चुनाव बड़ी मजबूती से लड़ेगा दल-क्षेत्री

Published by: 0

IMG-20171125-WA0053

उत्तराखंड क्रांति दल के कचहरी रोड स्थित केंद्रीय कार्यालय में दल की महानगर इकाई द्वारा महानगर मंथन कार्यक्रम के तहत एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता महानगर अध्यक्ष संजय क्षेत्री तथा संचालन महानगर महामंत्री गौरव उनियाल ने किया। बैठक में देहरादून नगर निगम चुनावों को बड़ी मजबूती के साथ लड़ने के साथ साथ नगर निगम सीमा के भीतर निवास करने वाले समस्त पदाधिकारियों को प्रमुख चुनावी मुद्दे व सुझाव के साथ आमंत्रित किया गया था। 4 घंटे तक चले मंथन में निष्कर्ष के रूप में देहरादून में मलिन बस्तियों के नियमितीकरण एवं व्यवस्थित करण का मुद्दा मुख्य मुद्दा बन कर सामने आया। अधिकांश वक्ताओं का कहना था कि भाजपा व कांग्रेस पिछले 17 वर्षों से मलिन बस्तियों को केवल अपने सियासी फायदे के लिए इस्तेमाल किया गया। दोनों पार्टियों ने मलिन बस्तियों वासियों को मालिकाना हक के सपने दिखाए तथा उनके वोटों का राजनैतिक दोहन किया। राज्य गठन के बाद तीन बार मलिन बस्तियों के नियमितीकरण के लिए बोर्ड का गठन किया गया जबकि इन समितियों की कारगुजारियों की वजह से बस्तियों के व्यवस्थी करण की योजना के लिए आया लाखों रुपया खर्च तक नहीं हो पाया। बैठक में तय किया गया कि मलिन बस्ती के निवासियों को कांग्रेस भाजपा की राजनैतिक गुलामी से मुक्ति दिलाने के लिए उक्रांद मलिन बस्तियों के विनियमितीकरण और व्यवस्थित करण की लड़ाई को मजबूती से लड़ेगा। यूकेडी के वरिष्ठ नेता श्री लताफत हुसैन ने पिछली कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पिछली सरकार के कार्यकाल में विधायक राजकुमार की अध्यक्षता में मलिन बस्ती विनियमितीकरण समिति का गठन किया गया था तथा उसके बाद समिति के अध्यक्ष द्वारा सरकार को दी गई रिपोर्ट में कहा था की देहरादून की मलिन बस्तियों को मालिकाना हक दिया जा चुका है। जबकि देहरादून की अधिकांश बस्तियां आज भी मालिकाना हक से महरूम है। केंद्रीय प्रवक्ता शांति प्रसाद भटट ने कहा कि सरकारी विभागों के बीच समन्वय ना होने के कारण हो रहे अधिकांश निर्माण कार्यों से जनता को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।एक विभाग सड़क बनाता है तो कुछ दिन बाद दूसरा विभाग पाइप लाइन डालने के लिए सड़क को खोद देता है। सरकारी विभागों में तालमेल के अभाव का खामियाजा जनता को भुगतना पड़ता है। उन्होंने कहा कि दल द्वारा जनता को उक्त समस्या से निजात दिलाने के लिए सरकार पर दबाव बनाना चाहिए। इसके अतिरिक्त अनेक वक्ताओं ने शहर में बिगड़ती सफाई व्यवस्था तथा टूटी सड़कों व पथ प्रकाश की समस्याओं को नगर निगम चुनाव के दौरान मुद्दा बनाने को लेकर पर सुझाव दिए। इसके साथ ही आज की बैठक में महानगर अध्यक्ष संजय क्षेत्री द्वारा नगर निगम चुनाव हेतु दल के केंद्रीय महामंत्री बहादुर सिंह रावत व वरिष्ठ नेता लताफत हुसैन की संयुक्त अध्यक्षता में 10 सदस्यीय प्रत्याशी चयन समिति का गठन किया गया। पूर्व महानगर अध्यक्ष वीरेंद्र बिष्ट तथा शैलेश गुलेरी के साथ उत्तम सिंह रावत,अर्जुन सिंह रावत, सुरेंद्र बुटोला,श्रीमती आशा शर्मा, मनोज मंमगाई तथा सूबेदार मेजर सेवानिवृत्त जयदीप सिहं थापा प्रत्याशी चयन समिति के सदस्य होंगे।
आज की बैठक में केंद्रीय प्रवक्ता शांति प्रसाद भट्ट,श्री लताफत हुसैन,केंद्रीय महामंत्री बहादुर सिंह रावत, केंद्रीय मीडिया प्रभारी सुनील ध्यानी, तराई मंडल प्रभारी डीके पाल, केंद्रीय सचिव वाहिद खान, महानगर सोशल मीडिया प्रभारी विक्रम सिंह खत्री, अर्जुन रावत ,उत्तम रावत, धर्मेंद्र कठैत, विजेंद्र रावत, ललित घिल्डियाल, ललित कुमार, विजय क्षेत्री, धीरेंद्र बिष्ट,सुशील मंमगाई, बिलास गौड, सुरेंद्र रावत,मान सिंह रावत, श्रीमती रुबी खान, दीपक गैरोला, रामेश्वरी चौहान,प्रवेंद्र नेगी, सुबोध कुमार, चंद्रप्रकाश जोशी, बशीर खान, अशोक राणा,राजेंद्र रावत आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *