गुसाईं को पुनः केन्द्रीय उपाध्यक्ष व जोशी को आईटी प्रकोष्ठ की जिम्मेदारी

Published by: 0

IMG-20171114-WA0074

गुसाईं को फिर से केन्द्रीय उपाध्यक्ष व जोशी को आईटी प्रकोष्ठ की जिम्मेदारी
?–?–?–?—
राज्य निर्माण में ऐतिहासिक व अहम भूमिका निभाने वाली देवभूमि उत्तराखंड का एकमात्र क्षेत्रिय दल एक बार अपने पुराने कलेवर में आने को बेताब है,उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन के पर्याय फील्ड मार्शल के नाम से न सिर्फ देवभूमि उत्तराखंड बल्कि देशभर में विख्यात पूर्व काबीना मंत्री दिवाकर भट्ट ने केन्द्रीय अध्यक्ष का पद संभालते ही अपने पुराने विश्वसनीय सिपाहसालारों व कुछ कर्मठ नये चेहरों को अहम जिम्मेदारी देकर राज्य को बनाने के बाद अब राज्य को बचाने हेतु फील्डिंग सजानी शुरू कर दी है।
भट्ट ने दल के पूर्व केन्द्रीय उपाध्यक्ष एन के गुसाईं को पुनः इसी पद की और युवा तुर्क सी पी जोशी को आईटी प्रकोष्ठ की अहम जिम्मेदारी देकर अपने इरादे जाहिर कर दिये हैं कि भविष्य में दल को कोई भी और किसी क्षेत्र में हल्के में आंकने की भूल न करे।
दल के केन्द्रीय कार्यालय में दल की बैठक में केन्द्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने कहा कि राज्य तो हमने लम्बे संघर्षो, अनेक कुर्बानियों व आमजनता के सहयोग से प्राप्त कर लिया, लेकिन अब सवाल राज्य बचाने का है।जिस प्रकार हमने राज्य की लड़ाई लड़कर राज्य प्राप्त किया ठीक उसी प्रकार से राज्य को बचाने की नैतिक जिम्मेदारी भी हमारी ही है,और यदि समय रहते हमने इस ओर संघर्ष का बिगुल नहीं बजाया तो इस राज्य को राष्ट्रीय राजनीतिक दलों से कोई भी नहीं बचा सकता है। इसके अतिरिक्त दल में शैलेश गुलेरी को केन्द्रीय उपाध्यक्ष, प्रताप सिंह कुवंर को केन्द्रीय संगठन मंत्री व अनिता शास्त्री को केन्द्रीय प्रचार मंत्री का दायित्व दिया गया है।
भट्ट ने उम्मीद जताई कि कार्यकारिणी के सभी पदाधिकारी व सदस्य दल को अपनी पुरानी व ऐतिहासिक पहचान दिलाने में पूरी ईमानदारी व मेहनत से कार्य करेंगे।
इस अवसर पर दल के केन्द्रीय महामंत्री जयप्रकाश उपाध्याय, केन्द्रीय महामंत्री डी के पाल,केन्द्रीय महामंत्री किशन सिंह रावत, केन्द्रीय संगठन मंत्री मनोज ममगाईं,केन्द्रीय कार्यकारिणी सदस्य समीर मुखर्जी,केन्द्रीय संगठन मंत्री धर्मेन्द्र कठैत,सह कार्यालय प्रभारी बिजेन्द्र रावत सहित अनेक लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *