10 लाख रू० करें जमा करने की सीमा

Published by: 0

harish-rawat

1000 और 500 के नोट बंद होने से जहां आम जनता अब पेरशान नजर आने लगी है कि उनहे 1000 और 500 के नोट बदलने के लिए लम्बी लम्बी लाईनो में लगना पड़ रहा है वहीं ढाई लाख रूपये से ज्यादा बैंक खाते में जमा करने पर 200 प्रतिशत टैक्स की बध्यता ने आम जनता के माथे पर बल डाल दिया है इसी को परेशानी को देखते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रधामंत्री को पत्र भेजकर कहा कि जो 200 प्रतिशत टैक्स की बाध्यता ढाई लाख जमा करने पर रखी गई उसे 10 लाख कर दिया जाए। मुख्यमंत्री हरीश रावत का कहना कि वह पहले मुख्यमंत्री है जिन्होने प्रधानंत्री के फैसले का सबसे पहले स्वागत किया था लेकिन अब एक संदेश ये जा रहा है कि जिसके पास 500 या 1000 का नोट रखा है उसने वह गलत तरिके से कमाया है। लेकिन कई लोग ऐसे भी है जो बैंकिग सुविधा तक नहीं पहुंच पाए है और उन्होने अपने मेहनत से धन कमाया है,लेकिन वह उसे अब परेशान है कि कैसे मेहतन से कमाए हुए धन को जमा करे,कुछ लोगो ने बुरे वक्त के लिए धन कमाया होता है तो कुछ ने मकान बनाने के लिए तो कुछ ने परिवार में सादी के लिए धन बचाया है लेकिन उभरते हुए निम्न आर्य वर्ग के लोग कैसे उस धन को जमा करे इस समस्या को उन्होने प्रधानमंत्री के समक्ष रखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *