दीपा ने रचा इतिहास

Published by: 0

20160913_091651-1

पैरालंपिक में दीपा ने रचा
इतिहास
—————————————
यदि किसी ईंसान के हौंसले बुलंद हो व मन में कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो फिर उसे सफलता का मोहताज नहीं रहना पड़ता है, बल्कि सफलता उसके दर पर स्वंय ही दस्तक देती है।
हरियाणा के सोनीपत जिले के भैंसवाल में जन्मी 46 वर्षीय दीपा शाॅटपुट ने अपने जीवन में पहले ट्यूमर से जंग जीतकर अब गत सोमवार को शाॅटपुट की एफ 53 स्पर्धा में छः प्रयासों में 4दशमलव 61 मीटर के अपने श्रेष्ठ थ्रो के साथ रजत पदक जीतकर देश का गौरव बढ़ाया है।
दीपा अब तक अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर 7 पदक अपने नाम कर देश का मान बढ़ा चुकी है, दीपा की इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, क्रिकेटर व राज्यसभा सांसद सचिन तेंदुलकर के साथ ही अभिनव बिन्द्रा ने बधाई दी है।
सैन्य अधिकारी की पत्नी व दो बच्चों की माँ दीपा 17 साल पहले स्पाइनल ट्यूमर से पीड़ित थी, जिन्हें ठीक करने चिकित्सकों को उनकी 31 बार सर्जरी कर 183 टांके लगाने पड़े ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *